Wednesday, May 5, 2010

दादा जी और दादी के साथ मस्ती

इस बार अप्रैल और मई दादा जी - दादी जी हमारे साथ मुंबई में है.
मैंने दादा जी और दादी के साथ बहुत मस्ती की.
एक दिन हम लोग गेट वे आफ इंडिया देखने गए थे
और टिक टिक घोड़े की सवारी भी की. बहुत मज़ा आया.

दादी यहाँ ..................
टिक टिक पे ...............

3 comments:

माधव said...

nice

http://madhavrai.blogspot.com/

रावेंद्रकुमार रवि said...

बहुत सुंदर!

रावेंद्रकुमार रवि said...

सुंदर होने के कारण
इस पोस्ट को चर्चा मंच पर

"आज ख़ुशी का दिन फिर आया"

के रूप में सजाया गया है!