Sunday, August 16, 2009

पाखी ने जब पहली बार बोला तो .........

असल में पाखी के अंकुर चाचा आए हुए थे और कई दिनों से बहुत बकबका रहे थें। जब पाखी से नही रहा गया तो ये हुआ ----

10 comments:

Geet said...

didi ji aap pe hi gayi hai... ;)

lovely said...

bahut badhiya ankur ki bolti band kar di

रंजन said...

चाचा को कुछ समझ नहीं आ रहा.. बहुत प्यारी..

प्यार..

Vikash said...

पाखी!!
बहस-मुबाहिसे में बातें सुनाने के साथ-साथ बातें सुनना भी ज़रूरी होता है बिटिया..
अंकुर चाचा को मौका ही नहीं दिया तुमने तो..

सैयद | Syed said...

:-)

Neetu said...

Lagta hai pakhi ko bahut gussa aa raha hai ankur par, tabhi tau bolnae nahi de rahi hai.....

Udan Tashtari said...

बेहतरीन!! अब चाचा बतायें कि क्या बोला!! :)

ankur said...

अच्छा थो ये गुलगपाडा चल रहा है , नेट , मीडिया में माहौल बना रही हो...ठीक है..बहका लो सबको ..मेरी तो कोई सुनेगा नहीं..
आता हु तब बताता हु ....तुम्हारा कई सामान मेरे पास है...दूंगा नहीं ....जान लो...
इसलिए मेरे साइड से बोला करो...

kumar said...

galat baat bardas nahi karne ka, Good chacha ki to bolti hi band ho gai.

Saurabh said...


hahahaha

kyun ankur bhayiya

ab bolo......

:d

pakhi se takkar.....bahut bhari padega


@subbu
mail to:subodh_ucer@yahoo.com


subodhrai.cs@gmail.com